शेयर बाजार की पिछले चार दिनों से जारी गिरावट पर ब्रेक लग गया।
Last Updated  11:22 AM [08/01/2016]
चीन में सर्किट ब्रेकर प्रणाली को स्थगित करने से विदेशी बाजारों में लौटी तेजी और घरेलू स्तर पर कल के नीचे भाव पर हुई लिवाली के बल पर शुक्रवार को शेयर बाजार की पिछले चार दिनों से जारी गिरावट पर ब्रेक लग गया।चीन ने शेयर बाजार में स्थिरता लाने के उद्देश्य से सोमवार को शुरू की गई नई सर्किट ब्रेकर प्रणाली को स्थगित करने की घोषणा करते हुए कहा कि इससे उद्देश्यों की पूर्ति नहीं हो पाई। इस कारण से इसे बंद किया जा रहा है।
इससे उत्साहित निवेशकों की लिवाली की बदौलत विदेशी बाजारों में तेजी लौटी। इस दौरान चीन का शंघाई कंपोजिट करीब दो फीसदी चढ़ गया।ब्रिटेन का एफटीएसई 0.58, हांगकांग का हैंगसैंग 0.59 और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.70 प्रतिशत ऊपर रहा जबकि जापान का निक्की 0.38 फीसदी उतर गया। बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 82.50 अंक अर्थात 0.33 फीसदी चढ़कर 24934.33 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 33.05 अंक यानि 0.44 फीसदी उठकर 7600 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 7601.35 अंक पर बंद हुआ।वहीं चीन के केंद्रीय बैंक पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना (पीबीओसी) के डॉलर के मुकाबले अपनी मुद्रा यूआन की मजबूत संदर्भ दर निर्धारित करने से भी बाजार को समर्थन मिला है। उसने गुरुवार को यूआन का आधा फीसदी अवमूल्यन करते हुए इसका मूल्य 6.5636 कर दिया था। इससे दुनिया के अन्य देशों में मुद्रा के अवमूल्यन की होंड़ शुरू होने की आशंका में केवल का चीन का शंघाई कंपोजिट शुरुआती कारोबार में सात फीसदी से अधिक लुढ़क गया। बाद में कारोबार स्थगति करना पड़ा था।मजबूत लिवाली के सहारे आईटीसी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एनटीपीसी, इंफोसिस, टाटा स्टील और टाटा मोटर्स जैसी दिग्गज कंपनियों मेें करीब तीन फीसदी की उछाल से भी बाजार को बल मिला। इस दौरान धातु एवं पूंजीगत वस्तुएं समूह की 0.67 फीसदी तक की गिरावट को छोड़कर बीएसई के अन्य 18 समूहों में तेजी दर्ज की गई। पावर और रियल्टी समूह में सर्वाधिक क्रमश: 2.06 फीसदी और 2.31 फीसदी बढ़त रही।

Add New Comment

 
 
 
 
 
 
POPULAR STORIES
BUSINESS AND FINANCE