भारत-पाकिस्तान की विदेश सचिव स्तर वार्ता के जनवरी महीने में ही होगी।
Last Updated  10:53 AM [16/01/2016]

भारत-पाकिस्तान की विदेश सचिव स्तर वार्ता के जनवरी महीने में ही होगी। यह फैसला 15 जनवरी को होने वाली वार्ता के टलने के एक दिन बाद लिया गया। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक दोनों तरफ से वार्ता के लंबे समय के लिए टालने का कोई मुद्दा नहीं है। गुरुवार को विदेश सचिव एस जयशंकर और पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी के फोन पर बात करने के बाद वार्ता को टालने का फैसला लिया गया। जयशंकर ने चौधरी को वार्ता टालने की सलाह दी थी, जिसे चौधरी ने मान लिया। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल के पेरिस से लौटने के बाद यह बातचीत की गई थी।

पेरिस से लौटने के बाद डोवाल ने पीएम मोदी को पाक सरकार द्वारा पठानकोट हमले में उठाए गए कदमों के आंकलन से रूबरू कराया। बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और विदेश सचिव जयशंकर भी मौजूद थे। इस बैठक में आगे के विकल्पों के बारे में चर्चा की गई। डोवाल और पाकिस्तान एनएसए नासिर खान पिछले दो सप्ताह से एक दूसरे के संपर्क में हैं। पीएम मोदी ने डोवाल और जयशंकर को सीधा मैसेज दिया था कि विश्वास करो, लेकिन जांच भी करो। इसके मैसेज के तहत काम हो रहा था। भारत ने पाकिस्तान द्वारा जैश के सदस्यों के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर और उनके खिलाफ लगाई गई धाराओं को चेक किया है। इसके साथ ही पाकिस्तान से हिरासत में जैश के सदस्यों की फोटो और डॉक्यूमेंट्री उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है। सूत्रों का कहना है कि पठानकोट से जुड़े आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के बिना भारत के विदेश सचिव को इस्लामाबाद भेजना मुश्किल है।

Add New Comment

 
 
 
 
 
 
POPULAR STORIES
BUSINESS AND FINANCE