शीना मर्डर केस में आरोपियों की रिमांड खत्म कोर्ट में होंगे पेश
Last Updated  10:48 AM [07/09/2015]

मुंबई. बहुचर्चित शीना बोरा मर्डर केस के आरोपी इंद्राणी, संजीव खन्ना और श्यामवीर राय की पुलिस रिमांड आज खत्म होने वाली है, इसके बाद मुंबई पुलिस तीनों को कोर्ट में पेश करेगी। इस मामले में हुए एक नए खुलासे से पता चला है कि शीना के मर्डर से पहले हत्या की मुख्य आरोपी इंद्राणी ने शीना की लाश को ठिकाने लगाने के लिए अपने ड्राइवर श्यामवीर राय के साथ पांच जगहों का दौरा किया था।
सूत्रों के मुताबिक, शीना की लाश को ठिकाने लगाने के लिए इंद्राणी ने तीन दिनों में पांच जगहें देखीं। ये जगह लोनावाला, करनाला के जंगली एरिया और मुंबई-आगरा हाईवे के आस पास की थी. दोनों ऐसी जगह की तलाश में थे जो पब्लिक प्लेस न हो, यानी वहां कम लोग जाते हों।
फ़िलहाल पुलिस आरोपियों से यह जानने की कोशिश कर रही है कि मर्डर के बाद शीना की लाश को उसी दिन ठिकाने क्यों नहीं लगाया गया, जिस दिन उसका कत्ल किया गया था। ग़ौरतलब है शीना की लाश को मर्डर के एक दिन बाद ठिकाने लगाया गया था. पुलिस कार्यवाही के दौरान इंद्राणी का क्रेडिट कार्ड भी जब्त कर लिया गया है। पुलिस को संदेह है कि लाश को ठिकाने लगाने के लिए इसी क्रेडिट कार्ड से सामान खरीदा गया था।
सूत्रों के मुताबिक पुलिस इंद्राणी और पीटर के दोस्त अभिजीत सेन के बॉडीगार्ड सुजीत सरकार से भी पूछताछ कर रही है। सुजीत का नंबर पुलिस को इंद्राणी और खन्ना के कॉल रिकॉर्ड में मिला था। रिकॉर्ड के मुताबिक, इंद्राणी और खन्ना ने सुजीत से शीना के मर्डर के पहले और बाद में कई बार बातचीत की थी। पुलिस को शक है कि इंद्राणी और खन्ना ने शीना के भाई मिखाइल के मर्डर के लिए सुजीत से कॉन्ट्रैक्ट किलर के संबंध में बात की थी। हालांकि, सुजीत का शीना मर्डर केस में कोई कनेक्शन है या नहीं, पुलिस अभी इसका पता नहीं लगा पाई है। इस दौरान पीटर मुखर्जी भी घर में ही मौजूद थे। पुलिस ने उनसे भी कुछ सवाल किए। पुलिस ने कुछ गवाहों की मौजूदगी में पंचनामा भी बनाया।

मुंबई. बहुचर्चित शीना बोरा मर्डर केस के आरोपी इंद्राणी, संजीव खन्ना और श्यामवीर राय की पुलिस रिमांड आज खत्म होने वाली है, इसके बाद मुंबई पुलिस तीनों को कोर्ट में पेश करेगी। इस मामले में हुए एक नए खुलासे से पता चला है कि शीना के मर्डर से पहले हत्या की मुख्य आरोपी इंद्राणी ने शीना की लाश को ठिकाने लगाने के लिए अपने ड्राइवर श्यामवीर राय के साथ पांच जगहों का दौरा किया था।


सूत्रों के मुताबिक, शीना की लाश को ठिकाने लगाने के लिए इंद्राणी ने तीन दिनों में पांच जगहें देखीं। ये जगह लोनावाला, करनाला के जंगली एरिया और मुंबई-आगरा हाईवे के आस पास की थी. दोनों ऐसी जगह की तलाश में थे जो पब्लिक प्लेस न हो, यानी वहां कम लोग जाते हों।
फ़िलहाल पुलिस आरोपियों से यह जानने की कोशिश कर रही है कि मर्डर के बाद शीना की लाश को उसी दिन ठिकाने क्यों नहीं लगाया गया, जिस दिन उसका कत्ल किया गया था। ग़ौरतलब है शीना की लाश को मर्डर के एक दिन बाद ठिकाने लगाया गया था. पुलिस कार्यवाही के दौरान इंद्राणी का क्रेडिट कार्ड भी जब्त कर लिया गया है। पुलिस को संदेह है कि लाश को ठिकाने लगाने के लिए इसी क्रेडिट कार्ड से सामान खरीदा गया था।


सूत्रों के मुताबिक पुलिस इंद्राणी और पीटर के दोस्त अभिजीत सेन के बॉडीगार्ड सुजीत सरकार से भी पूछताछ कर रही है। सुजीत का नंबर पुलिस को इंद्राणी और खन्ना के कॉल रिकॉर्ड में मिला था। रिकॉर्ड के मुताबिक, इंद्राणी और खन्ना ने सुजीत से शीना के मर्डर के पहले और बाद में कई बार बातचीत की थी। पुलिस को शक है कि इंद्राणी और खन्ना ने शीना के भाई मिखाइल के मर्डर के लिए सुजीत से कॉन्ट्रैक्ट किलर के संबंध में बात की थी। हालांकि, सुजीत का शीना मर्डर केस में कोई कनेक्शन है या नहीं, पुलिस अभी इसका पता नहीं लगा पाई है। इस दौरान पीटर मुखर्जी भी घर में ही मौजूद थे। पुलिस ने उनसे भी कुछ सवाल किए। पुलिस ने कुछ गवाहों की मौजूदगी में पंचनामा भी बनाया।

Add New Comment

 
 
 
 
 
 
POPULAR STORIES
BUSINESS AND FINANCE