सुहाग ने कहा कि पठानकोट हमले से सबक सीखने की जरूरत है।उ
Last Updated  11:46 AM [13/01/2016]
सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने बुधवार को कहा है कि सेना किसी भी तरह के ऑपरेशन के लिए तैयार है। उन्होंने पठानकोट पर आतंकी हमले के बाद पहली बार कहा कि वहां हमले के बाद ऑपरेशन आसान नहीं था।

इस ऑपरेशन में इसलिए अधिक वक्त लगा क्योंकि हम चाहते थे कि कम से कम लोग हताहत हों। इसके साथ ही सुहाग ने कहा कि पठानकोट हमले से सबक सीखने की जरूरत है।उन्होंने पठानकोट ऑपरेशन में शामिल विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों के बीच तालमेल की कमी की चर्चाओं को खारिज किया। जनरल सुहाग ने कहा कि वेस्टर्न आर्मी कमांडर पूरे ऑपरेशन की देखरेख कर रहे थे।ऑपरेशन में सेना की टुकड़ी, एनएसजी, गरुड़, इंटेलीजेंस एजेंसी और पुलिस लगी हुई थी। हमले में पाकिस्तान या पाक सेना का हाथ होने के सवाल पर सेना प्रमुख ने कहा कि सभी सबूत पाकिस्तान के साथ साझा किए गए हैं। सुहाग ने बताया कि उन्होंने वहां दवाएं, उपकरण देखें हैं जिन पर पाकिस्तान के निशान हैं। साफ है कि आतंकी पाकिस्तान से आए हैं।अब देखना है कि पाकिस्तान इन पर क्या कार्रवाई करता है। पठानकोट ऑपरेशन का नेतृत्व करने पर उठ रहे सवाल के संबंध में सुहाग ने कहा कि सेना को एनएसजी निर्देश नहीं दे रही थी। उन्होंने ऑपरेशन में एनएसजी को तैनात करने के फैसले का सही ठहराया।सुहाग ने कहा कि एनएसजी को इसलिए बुलाया गया था कि अगर किसी को बंधक बनाया गया हो, तो उनकी मदद ली जा सके। उन्होंने एनएसजी देश के बेहतरीन सुरक्षा बलों में से एक बताया। इससे पहले रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा था कि भारत को हानि पहुंचाने वालों को भी वैसा ही दर्द दिया जाएगा। उन्होंने कहा था कि इसके लिए समय और स्थान हम चुनेंगे।

Add New Comment

 
 
 
 
 
 
POPULAR STORIES
BUSINESS AND FINANCE